Intelligent Swan Story अक्लमंद हंस

दोस्तों, कभी भी किसी बड़े या बुद्धिमान व्यक्ति की बात हल्के में नही लेनी चाहिए क्यूकि अनुभव एक ऐसी चीज है जिसके दुआरा लोग आने वाले time को आसानी से समझ जाते है.

इसलिए अनुभव का हमेशा आदर करना चाहिए और साथ ही साथ जब आप कोई भी नया काम करे तो किसी experience आदमी से discuss जर्रूर कर ले आपका फायदा ही होगा.

मै एक intelligent swan की कहानी बताने जा रहा हूँ बहुत पुराने टाइम की बात है किसी जंगल एक बहुत बडा पेड था उस पेड़ पर बहुत सारे हंस रहते थे एक बहुत समझदार और अनुभवी हंस था और वह उन सब में बुद्धिमान व दूरदर्शी भी था.

सारे हंस उसका आदर भी करते थे एक दिन की बात है बड़े हंस ने एक नन्ही-सी बेल को पेड के तने पर बहुत नीचे लिपटते हुए देखा तो उसने सारे हंसो को दिखया की यह बेल future में हमारे लिए मौत का कारण बन सकती है|

परन्तु अनुभवी हंस की बात को दूसरे हंस ने गंभीरता से नहीं लिया और यह कह कर बात को टाल दिया एक छोटी-सी बेल हमें कैसे मौत के मुंह में ले जाएगी ऐसा कुछ नहीं होगा.

लेकिन बड़े हंस ने उनको बहुत समझाया यह तुम्हें छोटी-सी लग रही हैं पर थोड़े दिनों के बाद यह पेड के सारे तने को लपेटा मारकर ऊपर तक आ जाएगी फिर बेल का तना मोटा भी होगा यह पेड से चिपक जाएगी नीचे से ऊपर तक पेड पर चढने के लिए सीढी बन जाएगी.

कोई भी शिकारी उस सीढी के सहारे ऊपर चढकर हम तक पहुंच जाएगा और हम मारे जाएंगे मेरी इस बात को याद रखना अगर अपने आप को बचाना है तो बेल को अभी खत्म कर दो वरना पछताना पड़ेगा.

ये सारी बात सुनकर दूसरे हंसो ने बड़े हंस की बात को गंभीरता से नहीं लिया और मजाक करने लगे क्युकि future देखने की समझ उन सब में नहीं थी इसलिए कहता हूँ कोई भी फैसला करने से पहले अपना भला बुरा सोच ले.

कुछ समय के बाद बेल लिपटते-लिपटते ऊपर शाखों तक पहुंच गई और बेल का तना मोटा होना शुरु हुआ और सचमुच ही पेड के तने पर एक सीढी बन कर तैयार हो गई जिस पर आसानी से चढा जा सकता था.

अब हंसो को सच्चाई सामने नजर आने लगी परन्तु अब कुछ नहीं किया जा सकता था क्योंकि बेल मजबूत हो गई थी उसे नष्ट करना हंसों के बस की बात नहीं थी.

एक बार सब हंस दाना चुगने बाहर गए हुए थे तब एक शिकारी वह आया पेड पर बनी सीढी को देखते ही उसने पेड पर चढकर जाल बिछाया और चला गया।

सारे हंस लौट आए पेड पर उतरे तो बहेलिए के जाल में बुरी तरह फंस गए और फडफडाने लगे तब उन्हें  बड़े हंस की बुद्धिमानी और दूरदर्शिता का पता लगा.

सारे swan बहुत लज्जित थे और अपने आपको कोस रहे थे बड़ा हंस सबसे रुष्ट था और एक दम चुप चाप बैठा हुआ था.

सबने हंस से कहा अब इस संकट से निकालने की तरकीब तुम ही बता सकते हो आज से हम सब तुम्हारी बात नहीं टालेंगे सभी हंसों ने हामी भरी.

तब बड़े हंस ने कहा मेरी बात को ध्यान से सुनो जब बहेलिया आएगा सब मुर्दा होने का नाटक करना शिकारी सबको जाल से निकाल कर जमीन पर रखेगा जैसे ही वह last हंस को नीचे रखेगा मैं सबको इशारा कर दूँगा सब एक साथ उड़ जाना.

अगले दिन सबने वैसा ही किया जैसा बड़े हंस ने समझाया था सचमुच बहेलिया हंसों को मुर्दा समझकर जमीन पर पटकता गया मौका देखकर सारे हंस उड़ गए.
 
कहानी से क्या सीख मिलती है: हमे अपने जीवन में बुद्धिमानों की सलाह गंभीरता से लेनी चाहिए. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

For Self Improvement & Motivational Tips Type Your Email ID: