M.Tech के बाद करियर कैसे बनाये

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप? उम्मीद है अच्छे ही होंगे… एक बार फिर से सक्सेस इन हिंदी आपकी सेवा में हाजिर है आपका का हमारा विषय है M.Tech करने के बाद आपका करियर कैसा रहेगा, किस तरह की नौकरी मिलेगी… कैसे बनाये M.Tech के बाद करियर बहुत सारे लोगो को पता होता है उन्हें एम.टेक. के बाद क्या करना होता है परन्तु बहुत सारे दोस्तों को पता नहीं होता की क्या करना चाहिए, ये पोस्ट हमने उन्ही के लिए लिखी है शायद कुछ उनके काम आ जाये।

career after m.tech in hindi

दोस्तों, कहते हैं कि जिस क्षेत्र में सबसे ज्यादा नौकरी के अवसर होते हैं, उसी क्षेत्र में सबसे ज्यादा प्रतिस्पर्धा भी होती है। इंजीनियरिंग का क्षेत्र भी ऐसा ही है जिसमे जबरदस्त प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती है।

ये भी पढ़ें: MBA करने के बाद करियर की बुलंदियों को छू पाएंगे

इस क्षेत्र में वही छात्र-नौजवान आगे बढ़ पाते हैं जिनकी अपने विषय पर मजबूत पकड़ होती है और जो मेहनत करने से कतराते नहीं हैं। इंजीनियरिंग क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए लोग विस्तृत अध्ययन का रुख करते हैं।

नौकरी के लिए अपना दावा मजबूत करने के लिए लोग रिसर्च लेवल तक की शिक्षा हासिल करने में रुचि रखते हैं। इसी क्रम में मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी (एम.टेक.) की पढ़ाई भी जरूरी हो जाती है।

किसी अच्छे इंस्टिट्यूट में एम.टेक की पढ़ाई करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले ग्रेजुएट एपटीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट) अच्छे अंको से क्वालीफाई करना होता है। इसके बाद आप देश के किसी भी आई.आई.टी., एन.आई.टी. या आई.आई.एससी. में दाखिला ले सकते हैं।

इसमें उत्तीर्ण छात्रों को पढ़ाई के लिए आर्थिक सहायता भी प्राप्त होती है। दोस्तों, परास्नातक की पढ़ाई के बाद अगर आप आगे रिसर्च या पोस्ट डॉक्टोरल करना चाहते हैं तो आपको अपनी रूचि अनुसार एक किसी खास क्षेत्र में पढ़ाई करके विशेषज्ञता हासिल करनी होगी। केमिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंगआदि ऐसे ही क्षेत्र आपके लिए उपलब्ध हैं।

ये भी पढ़ें: कैसे करे JOB के लिए SKYPE INTERVIEW की तैयारी

अगर आप एम. टेक. के बाद सीधे जॉब करना चाहते हैं तब भी आपके सामने नौकरी के ढेरो दरवाजे खुले जायेंगे। आज के इस आधुनिक दौर में टेकनीशियनों और इंजीनियरों की भारी मांग है। लगभग हर कंपनी में इनकी मांग रहती है। लेकिन शिक्षण क्षेत्र में जॉब तलाशना एक अच्छा आप्शन है।

यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन ने लेक्चरर या सहायक प्राध्यापक के पद पर पढ़ाने के लिए एम.टेक. तक की शैक्षणिक योग्यता अनिवार्य कर दी है। आप शिक्षण क्षेत्र में भी आवेदन कर सकते हैं, बशर्ते आपकी इस क्षेत्र में रूचि हो।

इसके अलावा देशभर में कई ऐसी छोटी-बड़ी संस्थाएं है जहां रिसर्च वर्क या डेवेलपमेंट विंग के लिए एम. टेक. डिग्री धारकों की मांग होती है। बड़ी सरकारी संस्थाएं मसलन BARC भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर (बीएआरसी), नेशनल थर्मिनल पॉवर कारपोरेशन, ISRO इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन (इसरो), इंदिरा गांधी सेंटर फॉर एटॉमिक रिसर्च आदि में भी रिसर्च वर्क में असिस्टेंट की जरूरत रहती है।

ये भी पढ़ें: क्या है B.TECH करने के बाद छात्रों का उज्जवल भविष्य

इसके अतिरिक्त NPCIL न्यूक्लियर पॉवर कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एनपीसीआईएल), UCIL यूरेनियम कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड(यूसीआईएल), HCC हिंदुस्तान कंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड (एचसीसी), टीसीई कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड आदि ऐसी कई सरकारी-अर्धसरकारी या निजी कम्पनियां हैं जिसमें एम.टेक. करने के बाद आप नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आपकी योग्यता और शिक्षण संस्था जहां से आपने पढ़ाई की है, का स्तर जॉब प्लेसमेंट में बहुत मायने रखता है। जरूरी यह भी है कि आपने विभिन्न प्रोजेक्ट्स या इंटर्नशिप के दौरान पूरी एकाग्रता से ज्ञान हासिल किया हो। बेशक यह क्षेत्र टेक्निकल है, लेकिन इसमें नए-नए सुझाव और रचनात्मकता की भी संभावनाएं उपलब्ध हैं।

ऐसी कंपनियों में नौकरी पाने के लिए इंटरव्यू का बहुत महत्व है| इंटरव्यू में न सिर्फ आपका आत्मविश्वास मायने रखता है बल्कि आपके पास अपने काम के लिए एक अच्छा विजन भी होना चाहिए जो आपकी सोच और इरादे को स्पष्ट करेगा। इसीलिए हर समय आत्मविश्वास से भरे रहे.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट के जरिये जरूर बताये, और आगे इस तरह की पोस्ट अपने मेल आईडी पर लेने के लिए सक्सेस इन हिंदी को सब्सक्राइब करे ये बिलकुल फ्री है…

आज के लिए बस इतना ही, हमें दीजिये इजाजत नमस्कार।

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.