MBBS Doctor कैसे बने, डॉक्टर बनने के लिए क्या करें

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप? हमे आशा है आप कुशल से होंगे… अच्छे से होंगे। सक्सेस इन हिंदी आज एक बार फिर आपकी सेवा में हाजिर है एक ऐसा विषय लेकर जो लोग या जो छात्र लड़के और लड़कियाँ डॉक्टर बनना चाह रहे है या कैसे बने डॉक्टर इसका उत्तर उन्हें नहीं मिल रहा है तो इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको सब कुछ साफ हो जायेगा आज हम आपको बताएँगे कैसे बने डॉक्टर MBBS करने के बाद।

इस पोस्ट में आप पढ़ेंगे चिकित्सा के क्षेत्र में करियर के विभिन्न विकल्पों के बारे में… दोस्तों, समय के साथ हमारे जीवन में बहुत बदलाव आया है। लेकिन जिस विधा में सबसे ज्यादा बदलाव आया वह चिकित्सा का क्षेत्र है। हमेशा से ही इसे सेवा का क्षेत्र माना गया है और डॉक्टर को समाज में भगवान का दर्जा दिया जाता है।

career option after mbbs in hindi

इसीलिए सामाजिक स्तर पर आज भी इसकी प्रतिष्ठा कायम है। इसमें करियर की बहुत ज्यादा सम्भावना है। बड़ी संख्या में लोग इस क्षेत्र के प्रति आकर्षित हो रहे हैं। लेकिन ध्यान देने योग्य बात यह है कि एक अच्छा डॉक्टर बनने के लिए बेहद जरूरी है कि आपके मन में दूसरों के प्रति दया और सेवाभाव हो तब कही जाकर आप एक अच्छा डॉक्टर बन पाएंगे।

ये जरूर पढ़ें: B.TECH करने के बाद क्या करे

मेडिकल क्षेत्र में जाने के लिए आपको सीबीएससी बोर्ड द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट-यूजी) की परीक्षा उत्तीर्ण करके किसी मान्यता प्राप्त संस्था से MBBS बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी (एमबीबीएस) की पढ़ाई करनी होती है।

एम.बी.बी.एस. चिकित्सा क्षेत्र में सबसे जरुरी और आधारभूत कोर्स है। हालांकि आप एम.बी.बी.एस. करके भी किसी सरकारी या निजी संस्था और हॉस्पिटल में जूनियर डॉक्टर, जूनियर सर्जन, मेडिकल प्रोफेसर या लेक्चरर, शोधछात्र आदि के रूप में काम शुरू कर सकते हैं।

इसमें शुरुआती स्तर पर 3 लाख से 3.5 लाख तक का वार्षिक वेतनमान भी मिल सकता है। लेकिन देखा गया है कि ज्यादातर छात्र एम.बी.बी.एस. करने के बाद आगे की पढ़ाई करने की दिशा में बढ़ते हैं।

ये जरूर पढ़ें: 12वी के बाद इंडिया में करियर विकल्प

एम.बी.बी.एस. के बाद आपको MD मास्टर ऑफ मेडिसिन (एम.डी) और MS मास्टर ऑफ सर्जरी (एम.एस.) में से कोई एक क्षेत्र चुनना होता है। एम.डी करने के बाद आप फिजिशियन के रूप में करियर बना सकते हैं जबकि एम.एस. की पढ़ाई करने के बाद आप सर्जन बन सकते हैं|

किसी भी अच्छे इंस्टिट्यूट में दाखिला लेने के लिए आपको नीट-पीजी की परीक्षा अच्छे अंकों से उत्तीर्ण करनी होगी। अक्सर छात्र दुविधा में पड़ जाते हैं कि एम.बी.बी.एस. के बाद उनके लिए क्या करना उचित होगा।

इसका जवाब व्यक्ति की योग्यता और क्षमता पर निर्भर करता है कि उसे क्या चुनना चाहिए| यद्यपि दोनों ही कोर्स बेहद कठिन होते हैं लेकिन सापेक्ष रूप में एम.एस. में ज्यादा जटिलतायें होती हैं। जो लोग खून और चीर-फाड़ देखकर घबरा जाते हैं उन्हें एम.डी. की पढ़ाई करना चाहिए।

ये जरूर पढ़ें: MBA करने के बाद करियर

आप DNB डिप्लोमा ऑफ नेशनल बोर्ड (डीएनबी) भी कर सकते हैं। यह भी एक परास्नातक कोर्स है, जिसे करके आप स्पेशलिस्ट डॉक्टर बन सकते हैं। लेकिन इसकी एक बड़ी सीमा यह है कि ज्यादातर अस्पतालों में इसकी जगह, एम.एस. और एम.डी. डिग्री धारकों को ज्यादा वरीयता दी जाती है जबकि डीएनबी में पास रेट बेहद कम है।

यह एग्जाम पास करना काफी मुश्किल माना जाता है। इसके अलावा आप UPSC यूपीएससी द्वारा साल में एक बार आयोजित CMS कंबाइंड मेडिकल सर्विसेस (सीएमएस) परीक्षा अच्छे अंकों से उत्तीर्ण करके सरकारी अस्पतालों या संस्थाओं में भी नौकरी पा सकते हैं। यह परीक्षा स्थायी जॉब की गारंटी देती है।

ये जरूर पढ़ें: M.SC करने के बाद क्या करे

इसके अतिरक्त आप क्लीनिकल रिसर्च की तरफ जा सकते हैं। शोध करने के लिए इंडियन कौंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च, सेंट जॉन रिसर्च इंस्टिट्यूट, AIIMS ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, पीजीआई, टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च-मुंबई आदि बड़ी संस्थाएं शोध कराती हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट करके जरूर बताये, अगर आपके पास कोई सवाल है तो भी कमेंट करके पूछ सकते है हम जल्दी ही आपके सवाल का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे.

आज के लिए बस इतना ही, हमें दीजिये इजाजत नमस्कार।

14 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.