What is GST in Hindi फायदे और नुकसान पढ़ें

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप… हमे उम्मीद है आप अच्छे से ही होंगे। आज हम आपके साथ बेहद जरुरी टॉपिक पर बात करने जा रहे है जिसकी चर्चा पुरे देश में हो रही है बल्कि पूरी दुनिया में छाई हुई है इस आर्टिकल में बात करेंगे, GST क्या है व इससे होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में 1 जुलाई 2017 से भारत में जीएसटी लागू हो गया है।

रात्रि 12 बजे संसद के सेन्ट्रल हॉल में भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों ने मिलकर जीएसटी युग की शुरुआत बटन दबाकर की। भारत सरकार का वन नेशन वन टैक्स का सपना आखिरकार पूरा हो गया है। लेकिन अभी भी कई लोग जीएसटी से जुड़ी आधारभूत बातों से अनजान हैं।

ये भी पढ़ें: जानिए FAST FOOD खाने के नुकसान

आज सक्सेस इन हिंदी आपको जीएसटी से जुड़ी हर जानकारी देगा जिसके बाद आपको इस विषय के बारे में काफी हद तक जानकारी हो जाएगी।

आइए जानते हैं कि जीएसटी है क्या और इसके आने से क्या फायदे या नुकसान होंगे

जीएसटी क्या है?

जीएसटी यानी ‘वस्तु एवं सेवा कर’ एक अप्रत्यक्ष कर प्रणाली है जिसमें वस्तुओं के क्रय-विक्रय पर और सेवा क्षेत्र में पूरे देश में एक समान कर लागू होगा। इसके लागू होने से 17 प्रकार के केंद्रीय और राज्य स्तर पर लगाए जाने वाले करों से मुक्ति मिल जाएगी।

ये भी पढ़ें: ऑनलाइन GST नंबर कैसे ले

इसमें विभिन्न वस्तुओं पर 0% से 28% तक का टैक्स लगेगा जो देश के हर कोने में सामान रूप से लागू होगा। यह प्रणाली भारतीय अर्थव्यवस्था में एक राष्ट्रीय बाजार की अवधारणा पर आधारित है।

क्या हैं जीएसटी के फायदे

1) वस्तुओं और सेवाओं पर लगने वाले कुल 40 प्रकार के अप्रत्यक्ष कर और सेस से मुक्ति मिल जाएगी। इसके बदले हमें सिर्फ वस्तु एवं सेवा कर(जीएसटी) देना होगा।

2) सर्विस टैक्स, सेल्स टैक्स, मनोरंजन कर, परचेज टैक्स, सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी, लग्जरी टैक्स आदि अब नहीं देना होगा।

3) जीएसटी के लागू होने से जरूरी चीजे सस्ती होंगी,जिसके कारण मुद्रा स्फीति में गिरावट आएगी।

ये भी पढ़ें: भारत के VEER APP क्या है और कैसे करता है शहीद जवान की मदद

4) 81% प्रतिशत वस्तुओं पर जीएसटी की दर 18% या उससे कम होगी। जीएसटी के तहत गुड़, दूध, अंडा, दही, नमक जैसी रोजमर्रा की जरुरी चीजों में कोई भी कर देय नहीं होगा।

5) जीएसटी को ऑनलाइन कनेक्टिविटी (जीएसटी नेटवर्क) से जोड़ा गया है, जिसके कारण कारोबार में पारदर्शिता आएगी और भ्रष्टाचार या कर चोरी करना असंभव हो जायेगा।

6) 20 लाख से कम की वार्षिक बिक्री वाले छोटे व्यापारियों को जीएसटी से छूट दी जाएगी।

अगर आप एक बिजनेसमैन है और GST को बहुत अच्छे से समझना चाहते है कैसे आप अपने कारोबार को GST के नियम फॉलो करके बड़ा कर सकते है तो ये अगस्त 2017 की अपडेटेड बुक है इसमें सब कुछ आसान तरीके से बताया गया है अभी ऑनलाइन खरीदे…

क्या हैं जीएसटी के नुकसान

1) बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं को 15% स्लैब से निकाल कर 18% कर दिया जायेगा जिसके कारण यह सेवाएं महंगी हो जाएंगी|

2) इसमें केंद्र और राज्य दोनों सरकार द्वारा हर कारोबार पर नियंत्रण होगा, जिसके तहत कंप्लायंस कीमत में वृद्धि होगी।

3) भुगतान की क्रिया ऑनलाइन कनेक्टिविटी के द्वारा होगी, इस प्रणाली से अभ्यस्त न होने के कारण छोटे व्यापारियों को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

4) कुछ अर्थशास्त्रियों का कहना है कि जीएसटी के लागू होने से रियल स्टेट बाजार पर बुरा असर पड़ेगा। नये मकानों की कीमत में 8% तक की वृद्धि होगी।

5) उड्डयन उद्योग को इससे नुकसान होगा। हवाई सफर पर लगने वाले 6-9% तक के सर्विस टैक्स की जगह अब जीएसटी के तहत 15% या उससे अधिक कर देय होगा।

ये भी पढ़ें: भीम AADHAAR PAY ऐप्प क्या है व ऑनलाइन पेमेंट कैसे करे

6) कार, एयरकंडीशनर, रेफ्रीजिरेटर, चाकलेट और हर प्रकार की औद्योगिक इंटरमीडिएटरी पर 28% की दर लगेगी जो विश्व में किसी भी देश द्वारा लगायी गयी सबसे ज्यादा दर है।

अगर अभी भी GST से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो कमेंट करके पूछ सकते है दोस्तों हमें उम्मीद है कि अगर कोई आपसे जीएसटी के बारे में पूछेगा तो आप घुमा फिराकर या फिर जवाब देने से बचेंगे नहीं। बल्कि हमारे आज के विषय को पढ़कर लोगों को भी जीएसटी के प्रति जागरूक करेंगे।

आज के लिए बस इतना ही, हमें दीजिये इजाजत नमस्कार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *