Career After 12th in Hindi 12वीं के बाद करियर

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप? उम्मीद है अच्छे से होंगे सक्सेस इन हिंदी आज एक बार फिर से आपकी सेवा में आया है एक ऐसे विषय के साथ जो हमारे युवा साथियों के लिए बेहद मददगार साबित होगा। आज हम बात करने वाले है भारत में आप कैसे अपना करियर बना सकते है और कौन-कौन से क्षेत्र में क्या संभावनाएं है हर किसी का सपना होता है कि समय रहते उसे एक अच्छी सी नौकरी मिल जाए।

छात्र जीवन से ही हम इसकी जुगत में लग जाते हैं कि किस विषय का चयन करें, कौन से संस्थान में शिक्षा लें, कहां रह कर तैयारी करें, क्या सही-क्या गलत इत्यादि। हमारा मकसद होता है रुचि और योग्यतानुसार अपने लिए एक सही करियर का चुनाव करना और उसके लिए कड़ी मेहनत करना। आइये गौर करते हैं उन विकल्पों पर, जिसे हम अपने करियर के रूप में चुन सकते हैं।

10+2 के बाद ही हमारे सामने कई विकल्प खुल जाते हैं। सबसे पहले तो हमें यह तय कर लेना चाहिए कि हम किस क्षेत्र में अपना 100% दे सकते हैं।

ये भी पढ़ें: सुनहरे भविष्य के लिए ये CAREER OPTION होंगे फायदेमंद

परंपरागत रूप से सिविल सर्विसेस, डॉक्टरी और इंजीनियरिंग क्षेत्रों के प्रति आज भी छात्रों और नौजवानों में आकर्षण है। इन क्षेत्रों में पैसा और रुतबा तो है ही, साथ ही यह क्षेत्र सामाजिक रूप से भी बेहद प्रतिष्ठित माने जाते हैं।

सिविल सर्विसेज में है अच्छा भविष्य:

सिविल सर्विसेज के लिए सबसे अच्छी बात यह है कि आपने कला, वाणिज्य या विज्ञान किसी भी वर्ग से पढ़ाई की हो, हर किसी के लिए यह विकल्प खुला हुआ है। इसकी तैयारी बेहद बड़े स्तर पर होती है और इसमें चयन प्रारंभिक-मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू के जरिये तीन चरणों में होता है| इसके अंतर्गत आई.ए.एस., पी.सी.एस., आई.ऍफ.एस. सहित कई केन्द्रीय सेवाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं।

चिकित्सा को बनाए अपना करियर:

अगर आपकी रुचि सेवाभाव में है तो आप चिकित्सा के क्षेत्र में भी हाथ आजमा सकते हैं| किसी भी संस्थान में मेडिकल से सम्बंधित किसी डिग्री कोर्स को करने के लिए आपको सबसे पहले नेशनल एलिजिबिलिटी एंड एंट्रेंस टेस्ट(नीट) क्वालीफाई करना पड़ेगा। इसके लिए बेहद जरूरी है कि आप इंटरमीडिएट में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी या बायो-टेक्नोलॉजी में न्यूनतम 50% अंकों से उत्तीर्ण हो।

इंजीनियरिंग में सुनहरा भविष्य:

इंजीनियरिंग क्षेत्र के लिए भी जे.ई.ई.(मेंस) और जे.ई.ई.(एडवांस) क्वालीफाई करके आप देश के किसी भी आई.आई.टी, ट्रिपल आई.टी. और एन.आई.टी में दाखिला ले सकते हैं। इसके लिए आपको अनिवार्य रूप से इंटरमीडिएट में विज्ञान वर्ग से पढ़ाई करके अच्छे अंक प्राप्त करने होंगे।

इसके अतिरिक्त तकनीकी विकास के कारण कई नये रोजगार के विकल्प नजर आते हैं। कला क्षेत्र में आप क्रिएटिव राइटिंग, एनीमेशन, फिल्म, थिएटर और फोटोग्राफी जैसे विभिन्न रचनात्मक क्षेत्रों में अपने करियर की संभावना तलाश सकते हैं।

ये भी पढ़ें: B.TECH करने के बाद क्या करे

पुणे में स्थित फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया से आप फोटोग्राफी, सिनेमेटोग्राफी, स्क्रीनप्ले राइटिंग, एनीमेशन, एडिटिंग और फिल्म से जुड़े कई अन्य कोर्स भी कर सकते हैं।

वहीं दिल्ली के राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से आप अभिनय का प्रशिक्षण लेकर उसमें अपना भविष्य तलाश सकते हैं। देश के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में क्रिएटिव राइटिंग के डिप्लोमा कोर्स होते हैं। इसे करके आप लेखन की दिशा में भी कदम बढ़ा सकते हैं।

पत्रकारिकता पहुंचाएगा बुलंदियों पर:

आज के इस आधुनिक दौर में जर्नलिज्म भी एक अच्छा विकल्प है| किसी भी अच्छे संस्थान से मास कम्युनिकेशन करके आप इस क्षेत्र में भी संभावनाए बना सकते हैं। सबसे जरूरी है कि करियर का चुनाव करते वक्त हम अपनी रुचिबोध का ध्यान अवश्य रखें।

तो दोस्तों हमें उम्मीद है कि हमारा आज का विषय आपके लिए जरूर सहायक होगा। आज के लिए बस इतना ही, हमें इजाजत दीजिये नमस्कार।

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.