स्वामी विवेकानंद कोट्स Swami Vivekananda Quotes in Hindi

Swami Vivekananda एक बंगाली थे उनका जन्म 12 जनवरी सन 1863 को कलकत्ता में हुआ था जिसे अब Kolkatta कहा जाता है.

स्वामी जी एक भारतीय हिंदू साधु होने के साथ साथ 19 वीं सदी के भारतीय रहस्यवादी रामकृष्ण के एक प्रमुख शिष्य भी थे.

उन्हें 19 वीं सदी के दौरान एक प्रमुख विश्व धर्म की स्थिति के लिए हिंदू धर्म में लाने का श्रेय जाता है जिसमें उन्होंने हिंदू धर्म के लिए शिकागो अमेरिका में विश्व धर्म महासभा 1893 में एक Motivational Speech पेश की थी.

जिस सुनकर पूरा अमेरिका व जितने भी लोग वहाँ थे सब के सब पहले तो बड़े अचमभीत हुए और उसके बाद उनके भाषण में लीन हो गए और स्वामी जी की बहुत सराहना की.

जानते है स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार-

1-स्वामी जी ने कहा था, उठो जागो और तब तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो जाये.

2-उठो मेरे शेरो इस भ्रम को मिटा दो कि तुम निर्बल हो तुम एक अमर आत्मा हो स्वच्छंद जीव हो धन्य हो सनातन हो तुम तत्व नहीं हो ना ही शरीर हो तत्व तुम्हारा सेवक है तुम तत्व के सेवक नहीं हो.

3-जिस तरह से विभिन्न स्रोतों से उत्पन्न धाराएँ अपना जल समुद्र में मिला देती हैं उसी प्रकार मनुष्य द्वारा चुना हर मार्ग चाहे अच्छा हो या बुरा भगवान तक जर्रूर जाता है हमेशा ऊपर वाले (खुदा) को साक्षी मन कर काम करना चाहिए  .

4-Swami Vivekananda ने जोर दे कर कहा है किसी की निंदा ना करें अगर आप किसी मदद के लिए हाथ बढ़ा सकते हैं तो ज़रुर बढाएं अगर आप नहीं बढ़ा सकते तो अपने हाथ जोड़िये  अपने भाइयों को आशीर्वाद दीजिये और उन्हें उनके मार्ग पर जाने दीजिये.

5-अगर आप धन दूसरों की भलाई करने में मदद करे तो इसका कुछ महत्व है अन्यथा ये सिर्फ बुराई का एक ढेर है और इससे जितना जल्दी छुटकारा मिल जाये उतना बेहतर होता है.

6-उन्होंने ये भी बताया है कि एक word में कहूगा यह आदर्श है कि तुम परमात्मा हो क्योंकि हर इन्सान के अंदर भगवान वास करते है.

7-उस व्यक्ति ने अमरत्त्व प्राप्त कर लिया है जो संसार कि किसी भी वस्तु से व्याकुल नहीं होता हो.

8-हम अपने आपको जितना अधिक बाहर ले जाएंगे और दूसरों का भला करें हमारा ह्रदय उतना ही शुद्ध होगा और परमात्मा उसमे बसेंगे.

9-आदमी का बाहरी स्वभाव ही केवल अंदरूनी स्वभाव का बड़ा रूप है इसलिए हम सबको वैसा ही सदाचार रखना चाहिए जैसा की हम है ओवर स्मार्ट न बने नहीं तो एक दिन जर्रूर पकडे जाएंगे.

10-जब कोई विचार पूर्ण रूप से दिमाग mind पर अधिकार कर लेता है तब वह वास्तविक भौतिक या मानसिक अवस्था में परिवर्तित हो जाता है अपने दिमाग को संतुलित रखे.

11-विवेकानंद जी ने कहा है जब दिल और दिमाग का टकराव हो उस time हमको अपने दिल की बात सुननी चाहिए आपको रहत मिलेगी.

12-किसी दिन जब आपके सामने कोई समस्या ना आये तो आप सुनिश्चित हो सकते हैं कि आज आप गलत मार्ग पर चल रहे हैं.

13-आप हमेशा स्वतंत्र होने का साहस करो और जहाँ तक तुम्हारे विचार जाते हैं वहां तक जाने की हिम्मत करो और उन्हें अपने life में उतारने का साहस करो.

14-जीवन में किसी भी चीज से मत डरो तुम एक अद्भुत काम करोगे यह निर्भयता ही है जो क्षण भर में परम आनंद लाती है और आप जीत सकते है.

15-सबसे बड़ा धर्म यह है हमे अपने स्वभाव के प्रति सच्चा होना चाहिए और अपने आप पर विश्वास करो.

16-जो आग हमें को गर्मी देती है वो हमें नष्ट भी कर सकती है यह अग्नि का दोष नहीं है ध्यान रहे जिस बात या जिस चीज़ से हमे फायदा हो रहा है तो कही न कही नुकसान भी होगा.

17-जीना उसी को कहते है जो लोग दूसरों के लिए जीते हैं अपने दुःखों को भुला कर दूसरों की सेवा करना.

18-स्वामी जी ने बताया की शक्ति जीवन है निर्बलता मृत्यु है विस्तार जीवन है संकुचन मृत्यु है प्रेम जीवन है द्वेष मृत्यु है.

19-अपने जीवन में हमे जो मिले उसे ना खोजो ना बचो जो आता है ले लो.

20-एक समय में एक काम करो और ऐसा करते समय अपनी पूरी आत्मा उसमे डाल दो और बाकी सब कुछ भूल जाओ फिर देखो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है.

21-कुछ मत पूछो बदले में कुछ मत मांगो जो देना है वो दो वो तुम तक वापस आएगा पर उसके बारे में अभी मत सोचो कर्म करो फल की इच्छा मत करो फल तो मिलना ही है.

22-अगर इस संसार में आपको किसी की सेवा करनी है तो मनुष्य की सेवा करो भगवान की सेवा करो.

23-मानव को खुद को कमजोर समझना इस धरती पर सबसे बड़ा पाप है.

24-वो लोग बहुत भाग्यशाली हैं जिनका अपना शरीर दूसरों लोगो की सेवा करने में नष्ट हो जाता है.

25-स्वामी जी के गुरु ने कहा है, श्री रामकृष्ण कहा करते थे “जब तक मैं जीवित हूँ तब तक मैं सीखता हूँ” वह व्यक्ति या वह समाज जिसके पास सीखने को कुछ नहीं है वह पहले से ही मौत के कटघरे में है.

अपनी रॉय जर्रूर दे अगर आपके पास भी कुछ ऐसी बाते है जिन्हे आप लोगो के साथ शेयर करना चाहते है या आप के पास कोई motivational story या development tips है तो हमारे साथ successinhindi@gmail.com पर मेल कर सकते है.

आपकी पोस्ट unique होनी चाहिए मतलब ये के कही और से copy न की गयी हो खुद आपने उसे लिखा हो. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

For Self Improvement & Motivational Tips Type Your Email ID: