Chartered Accountant कैसे बने व CA की सैलरी कितनी होती है

नमस्कार दोस्तों, सक्सेस इन हिंदी में आपका स्वागत है एक बार फिर हाजिर है आपकी सेवा में आज का हमारा विषय है कैसे बने Chartered Accountant व सीए बनने के बाद करियर कैसा रहेगा इस क्षेत्र में क्या-क्या दिक्कतें आती है ऐसी ही CA के करियर से जुड़ी जानकारी हम आपको इस पोस्ट में बताने वाले है जो हमारे युवा साथियों के लिए मददगार साबित होगी।

become Chartered Accountant in hindi

क्या है चार्टर्ड अकाउंटेंसी

चार्टर्ड अकाउंटेंसी व्यापार से जुड़ा सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र है। कंपनी के लाभ से कंपनी को सुचारू रूप से चलाने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट की आवश्यकता पड़ती है। पूंजीवाद के दौर में मार्केट की वैल्यू बढ़ जाती है और हर बड़ी कंपनी अधिक से अधिक मार्केट कब्जाने की कोशिश में रहती है। ऐसी स्थिति में कंपनियों में जबरदस्त स्पर्धा देखी जाती है।

हर कंपनी को विभिन्न प्रकार के व्यापारिक लेखा-जोखा रखने के साथ ही, प्रोग्रेस के लिए रचनात्मक विचारों की आवश्यकता होती है। ऐसी सभी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट की जरुरत पड़ती है।

ये जरूर पढ़ें: कैसे बने डॉक्टर MBBS करने के बाद

दोस्तों यह एक बेहद चुनौतीपूर्ण क्षेत्र है। जिसमें करियर बनाने के लिए सामाजिक-आर्थिक और मार्केट के विषय पर गहरी समझदारी अनिवार्य है। व्यापार से जुड़े तमाम बारीक पहलुओं का विश्लेषण करने की योग्यता के साथ गणित पर अच्छी पकड़ भी आवश्यक है। इसमें व्यापार सम्बंधित सैद्धान्तिक ज्ञान को व्यावहारिक ज्ञान में प्रयोग करना भी आना चाहिए।

कैसे बने चार्टर्ड अकाउंटेंट?

CA चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको ICAI इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) का सदस्य बनना जरूरी है। सबसे अच्छी बात यह है कि आप हाईस्कूल उत्तीर्ण करने के बाद ही CPT कॉमन प्रोफिसिएन्सी टेस्ट (सीपीटी) के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

10+2 के बाद आपको यह परीक्षा देनी होगी। इसमें अकाउंटिंग के मूल सिद्धांत, मर्केंटाइल लॉ, सामान्य अर्थशास्त्र और परिणामात्मक ज्ञान सम्बन्धी सवाल पूछे जाते हैं।

ये जरूर पढ़ें: कैसे बनाये M.TECH के बाद CAREER

जो छात्र-नौजवान किसी भी वर्ग से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके है वे सीधे दूसरे चरण की परीक्षा में बैठ सकते हैं। उनके लिए सीपीटी की परीक्षा देने की कोई बाध्यता नहीं है। इस चरण में आपको IPCC इंटीग्रेटेड प्रोफेशनल कॉम्पीटेंस कोर्स (आईपीसीसी) की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी।

2 ग्रुप में विभाजित इस परीक्षा में एकाउंटिंग, बिजनेस कम्युनिकेशन, टैक्सेशन, ऑडिटिंग, टैक्स आदि सम्बन्धी 7 पेपर देने होते हैं।

तीसरे चरण में आपको चार्टर्ड एकाउंटेंसी का फाइनल एग्जाम उत्तीर्ण करना होता है। यह परीक्षा दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में गिनी जाती है। यह भी 2 ग्रुप में विभाजित है। इस परीक्षा में आपको एडवांस लेवल के स्ट्रेटजिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट, ऑडिटिंग, कॉर्पोरेट लॉ, एडवांस लेवल एकाउंटिंग, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, टैक्स आदि से सम्बंधित कुल 8 पेपर देने होते हैं।

इस फाइनल एग्जाम को उत्तीर्ण करने के बाद ही आप आईसीएसी के सदस्य बन सकते हैं।

CA करने के बाद नौकरी और सैलरी

आईसीएआई के सदस्य बनने के बाद आप किसी भी सरकारी-अर्धसरकारी या निजी संस्था के लिए कंपनी सेक्रेटरी, इकोनॉमिस्ट, एकाउंटिंग, बैंकिंग, स्टॉक ब्रोकिंग आदि के पद पर आवेदन कर सकते हैं। आईसीआईसीआईसी प्रुडेंशियल जीवन बीमा कंपनी, विप्रो लिमिटेड, आईटीसी लिमिटेड, जिंदल स्टील एंड पॉवर लिमिटेड, बैंक, किसी ऑडिटिंग फर्म आदि में जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ये जरूर पढ़ें: MCA करने के बाद CAREER

योग्यता और क्षमता के अनुसार चार्टर्ड अकाउंटेंट का वेतनमान बदलता रहता है। लेकिन औसत स्तर पर एक चार्टर्ड अकाउंटेंट को 8 लाख से 12 लाख तक वार्षिक वेतनमान मिलता है। विदेशी कंपनी में 16 लाख से 22 लाख तक का वार्षिक वेतनमान हो सकता है।

ये पोस्ट आपको कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताये, दोस्तों हमें पूरी उम्मीद है कि आपको हमारा आज का विषय जरूर पसंद आएगा और ये आपके लिए बहुत सहायक होगा। आज के लिए बस इतना ही, हमें दीजिये इजाजत नमस्कार।

अगर आपने अभी तक Successinhindi.com को सब्सक्राइब नहीं किया है तो सब्सक्राइब करना ना भूले जिससे की भविष्य में पोस्ट की जाने वाली नई पोस्ट आपकी ईमेल ID पर send कर दी जाये.

27 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.