गॉड ऑफ क्रिकेट Sachin Tendulkar के सक्सेस मंत्र

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका सक्सेज इन हिंदी में, इस पोस्ट में आपको क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर की सफलता के बारे में पढ़ने को मिलेगा. हम आपको मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की सफलता के राज बताने जा रहे हैं.

कैसे उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से क्रिकेट की दुनिया में ऐसे-ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं जिन्हें किसी खिलाड़ी के लिए तोड़ पाना नामुमकिन है.

rules of sachin tendulkar success

सचिन ने 24 साल तक भारतीय क्रिकेट टीम को अपनी सेवा प्रदान की इस दौरान उन्होंने अपने जीवन में कई ऐसे अनुभव किए जिसका उन्होंने अपने इंटरव्यू में, अपनी कॉन्फ्रेंस में जिक्र किया और उन्होंने बताया कि कैसे वह अपने जीवन में इतने सफल हुए. आज हम आपको उन्हीं तरीकों को बताने जा रहे हैं जो सचिन तेंदुलकर ने अपने जीवन में फॉलो किए और क्रिकेट की दुनिया में बड़े-बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किये.

आगे शुरू करने से पहले सचिन तेंदुलकर के बारे में हम आपको थोड़ा सी जानकारी देते हैं उनका पूरा नाम “सचिन रमेश तेंदुलकर” है उनका जन्म 24 अप्रैल 1973 को बॉम्बे में हुआ था उन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच 1989 में खेला था और आखिरी मैच सन 2013 में खेला था, 2013 में ही क्रिकेट के भगवान को भारत रत्न से नवाजा गया था.

ये भी पढ़ें: जीवन में सफल होने के लिए Kapil Dev के सक्सेस रूल्स

तो चलिए अब देरी ना करते हुए आपको बता देते हैं क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर की सफलता के राज के बारे में-

1- Be Disciplined अनुशासित रहें

सचिन रमेश तेंदुलकर का मानना है कि हमें अपने जीवन में अनुशासन के साथ रहना चाहिए, अनुशासन के साथ काम करना चाहिए, यदि हम अनुशासन के साथ नहीं रहते हैं और अनुशासन के साथ कोई काम नहीं करते हैं तो कुछ भी ठीक नहीं होता है सब कुछ उल्टा-पुल्टा होने लगता है.

क्योंकि जब किसी काम में कोई भी नियम कानून नहीं होता है तो उस काम की वैल्यू नहीं होती है ठीक उसी प्रकार जब हम अपने जीवन में अनुशासित नहीं रहेंगे तो हमारी वैल्यू कोई नहीं करेगा, इसीलिए जीवन में बड़ी सफलता के लिए अनुशासित रहना बेहद जरूरी है.

2- Celebrate every success हर सफलता का जश्न मनाएं

बहुत सारे लोगों का ये मानना होता है कि जब बड़ी सक्सेस मिलती है जीवन में तभी उसका जश्न मनाने का मजा आता है किंतु सचिन तेंदुलकर का यह मानना है कि जीवन में चाहे छोटी सफलता हो या फिर बड़ी हर सफलता का हमें जश्न मनाना चाहिए.

क्योंकि छोटी-छोटी सफलता के बाद ही बड़ी सफलता मिलती है अगर हम बड़ी सफलता के चक्कर में बैठे रहे और छोटी-छोटी सफलताओं को हमने सेलिब्रेट नहीं किया तो बड़ी सफलता मिलने के बाद भी गारंटी नहीं है कि हम जश्न मना पाए क्योंकि जब हमें कोई सफलता मिलती है या किसी काम में हम कामयाब होते हैं तो उसके तुरंत बाद हमें अगला टारगेट दिखाई देने लगता है, हमें अपनी अगली मंजिल दिखाई देने लगती है और हम उस सफलता का जश्न मनाना भूल जाते हैं.

ये भी पढ़ें: Success in Short Time कैसे ले कम समय में सफलता

तो ध्यान रहे जब भी आपको अपने जीवन में छोटी या बड़ी कैसी भी सक्सेस मिली हो उसे सेलिब्रेट कीजिए अपने दोस्तों के साथ अपने परिवार के साथ खुशिया मनाये.

3- Try New Things नई चीजों का प्रयास करें

भारत रत्न सचिन तेंदुलकर का यह भी मानना है कि जीवन में सफल होने के लिए हमें नई चीजों को करने का प्रयास करते रहना चाहिए क्योंकि, एक आदमी अपने जीवन में सारे काम नहीं कर सकता है या उसे सब कामों की जानकारी/नॉलेज नहीं हो सकती है ठीक उसी प्रकार अगर किसी आदमी को किसी काम में सफलता मिलती है तो यह जरुरी नहीं कि दूसरा आदमी भी उस काम में सफल हो जाए.

तो इसीलिए दोस्तों जो दूसरा कर रहा है जरूरी नहीं कि आप भी वैसा ही करें आप कुछ नया करें कुछ नया करने की कोशिश करें हो सकता है कि आपको शुरूआत में कुछ कठिनाई हो काम को करने में किंतु जब आप काम को करने लगते हैं तो आप उसमें एक्सपर्ट हो जाते है और1 दिन उसमें सफल हो जाते हैं.

4- Solve bigger problem first पहले बड़ी समस्या हल करें

मनुष्य जीवन में सब लोगों के सामने प्रॉब्लम आती हैं किसी के सामने छोटी प्रॉब्लम आती है तो किसी के सामने बड़ी प्रॉब्लम आती है ये एक आम बात है जब हम कोई काम करते हैं या कहीं भी आते-जाते हैं तो रास्ते में हमें कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ता है किंतु ध्यान रहे जब आपके सामने कई सारी समस्याएं आती है या आएँगी तो आप यह फिगर आउट करें की सबसे बड़ी समस्या कौन सी है.

ये भी पढ़ें: सदी के महानायक Amitabh Bachchan की सफलता के राज

उसके बाद बड़ी समस्या को सुलझाने की पहले कोशिश करें बाद में छोटी मोटी प्रॉब्लम को सुलझाएं ऐसा करने से आपको फायदा होगा क्योंकि कभी-कभी बड़ी प्रॉब्लम से छोटी प्रॉब्लम होती हैं और जब बड़ी प्रॉब्लम सॉल्व होती है तो छोटी अपने आप हल हो जाती है अगर आप शुरुआत में छोटी दिक्कतों को खत्म करने की कोशिश करेंगे तो शायद आपको टाइम अधिक लग सकता है.

5- Don’t cheat work hard मेहनत से धोखा मत करो

जीवन में बिना मेहनत के कहीं भी कुछ नहीं मिलता है किंतु बहुत सारे लोग यह कहते हैं कि हमने बहुत मेहनत की लेकिन हमें सफलता नहीं मिली, दोस्तों उनके लिए सचिन तेंदुलकर ने एक बहुत ही काम की बात बताई है उन्होंने कहा कि हमें अपनी मेहनत के साथ धोखा नहीं करना चाहिए.

यानी कि उनके कहने का साफ-साफ अर्थ है कि जब हम मेहनत करते हैं तो कुछ लोग उसमें दिखावा करते हैं ढोंग करते हैं और सिर्फ दूसरे लोगों को दिखते है में बहुत मेहनत कर रहा हूँ. ऐसे लोगों को सफलता नहीं मिलती है क्योंकि उन्होंने मेहनत पूरी ईमानदारी से नहीं की इसीलिए पूरी सच्चाई के साथ वफादारी के साथ मेहनत करें आपकी मेहनत जरुर रंग लाएगी.

6- Struggle Sacrifice, success संघर्ष बलिदान, सफलता

सफलता मिलने से पहले हर इंसान को संघर्ष करना पड़ता है कुछ चीजों का बलिदान करना पड़ता है तब उसके बाद जाकर सक्सेस मिलना शुरु होती है. सक्सेस एका- एक बहुत बड़ी नहीं मिलती है पहले छोटी-छोटी सक्सेस मिलती है उसके बाद ये छोटी-छोटी सफलता एक बड़ी सक्सेस के रूप में बदल जाती है इसलिए ध्यान रहे संघर्ष + बलिदान = सक्सेस.

ये भी पढ़ें: जानिए कॉमेडियन Kapil Sharma के 5 सफलता के राज

दोस्तों इस पोस्ट में इतना ही लाइफ में सक्सेस होने के लिए सचिन तेंदुलकर के द्वारा बताए गए टिप्स को अपनाएं और अपने जीवन में उनकी तरह बड़े-बड़े मुकाम हासिल करें.

ये पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं. धन्यवाद.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.