अटल बिहारी वाजपेयी जी के सक्सेस मंत्र Atal Bihari Vajpayee Success Mantra

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका सक्सेस इन हिंदी के मंच में इस आर्टिकल में हम आपको भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के सक्सेस मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं. जिन्हें पढ़ने के बाद आपके जीवन में जो भी अंधेरा है वह सब hat जाएगा और आपकी जिंदगी में रोशनी ही रोशनी आ जाएगी.

Atal Bihari Vajpayee ji Success Mantra

दोस्तों, इस पोस्ट को बहुत ध्यान से पढ़िए इसमें हमने वो सारी बातें बताई हैं जो अटल बिहारी वाजपेयी जी अपनी बातो से बताया करते थे या उन्होंने जिन बातों को अपनाकर उन्होंने अपनी लाइफ में उतारा जिससे उन्हें जीवन में बड़ी से बड़ी सफलता मिली आज वही बातें हम आपको बताने जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: इंदिरा गांधी के शक्तिशाली अनमोल विचार

अटल बिहारी वाजपेयी जी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर जिले में हुआ था जो मध्यप्रदेश राज्य में है. अटल बिहारी वाजपेयी शुरुआत से ही बड़े साफ-सुथरे और दिल के अच्छे इंसान रहे कभी भी उन्होंने गंदी राजनीति नहीं की जिसके चलते आज भी लोग उन्हें पसंद करते हैं और इसलिए भी पसंद करते हैं जो उनके जीवन जीने की धारणाएं थी वह कहीं ना कहीं लोगों के लिए सक्सेस मंत्र का काम करती हैं.

तो चलिए अब देर ना करते हुए जल्दी से अटल बिहारी वाजपेयी जी के सक्सेस मंत्र के बारे में बात करते हैं-

1- विनम्र रहो Be Humble

वाजपेयी जी ने कहा कि हम इंसानों को अपनी निजी जिंदगी में विनम्र रहना चाहिए क्योंकि विनम्रता से जो काम हो जाता है या विनम्रता से जो काम हम दूसरे से निकाल पाते हैं वह काम हम कठोर बनकर नहीं निकाल सकते. अगर हमें जीवन में बहुत बड़ी सफलता चाहिए तो विनम्र रहना होगा विनम्रता से बात करनी होगी और लोगों से अच्छे तरीके से तालमेल बैठाना होगा.

दोस्तों, यह बात हम सभी अच्छे से जानते हैं कि आज की दुनिया में कोई इंसान किसी से नहीं डरता अगर आप किसी से विनम्रता पूर्वक कोई विनती करते हैं तो वह आपकी बात जरुर मानता है इसीलिए विनम्र रहे और अपने काम को आगे बढ़ाते रहें.

2- निर्णयकर्ता Decision Maker

निर्णय लेना कोई बड़ी बात नहीं होती है परंतु सही समय पर सही निर्णय लेना बहुत बड़ी बात होती है इसीलिए वाजपेयी जी हमेशा सही समय पर सही डिसीजन लेने के लिए जाने जाते है वह हमेशा ऐसे निर्णय लिया करते थे जो दूसरों को कठिन लगते थे और नामुमकिन जैसे लगते थे इसीलिए उनकी इन बातों को याद किया जाता है.

आप भी अपने जीवन में अपने निर्णय खुद ले और हो सके तो सही समय पर सही निर्णय लें जोकि आपकी जिंदगी को संवार सकते है बदल सकते है.

3- साधारण जीवन, उच्च विचार High thinking Simple living

अटल बिहारी वाजपेयी जी साधारण जीवन व्यतीत करते थे परंतु उच्च विचार हमेशा रखते थे. क्योंकि आपका व्यक्तित्व, आप कैसा जीवन व्यतीत करते हैं इस पर निर्धारित नहीं होता बल्कि आपके विचार कैसे हैं आप किस लेवल का सोच पा रहे है, ये आपके जीवन को दर्शाता है आपके व्यक्तित्व को दर्शाता है.

ये भी पढ़ें: डॉ भीमराव अंबेडकर के प्रेरणादायक अनमोल विचार

इसीलिए दोस्तों कभी भी अपने विचारों को छोटा मत रखिए उन्हें बड़ा बनाइए भले ही आप साधारण जीवन जी रहे हैं आप बहुत महंगी पैंट नहीं पहन रहे हैं, बहुत महंगी शर्ट नहीं पहन रहे हैं बहुत महंगे जूते नहीं पहन रहे हैं उससे फर्क नहीं पड़ना चाहिए ये सब चलता है किन्तु आपके विचारों में जान होनी चाहिए.

4- एकता में विश्वास करें Believe in Unity

एकता में ताकत होती है ये हम सभी जानते हैं परंतु उसके साथ-साथ एकता में विश्वास करना भी बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आप एक टीम में काम कर रहे हैं और आप बाकी की टीम मेंबर में विश्वास नहीं करते तो यह आप बहुत बड़ी भूल कर रहे हैं. कई बार ऐसा भी होता है (हमे लगता है की टीम का कोई मेंबर हम पर विश्वास नहीं करता, किन्तु उस समय कही न कही हम गलती कर देते है हम खुद ही उस पर विश्वास नहीं करते है).

क्योंकि एक टीम एक परिवार की तरह काम करती है और जब परिवार का कोई सदस्य थोड़ी सी भी गड़बड़ करता है तो पूरे परिवार को परेशानियों का सामना करना पड़ता है इसलिए आप जब कभी भी किसी टीम के साथ काम करें उसमें विश्वास करें और यह समझे कि मेरा इसमें 100% देना ही टीम की ताकत है.

5- राष्ट्र पहले राजनीति बाद में Nation Bigger then Politics

अटल बिहारी वाजपेयी जी हमेशा अपने विचार व्यक्त करते समय एक बात का बहुत ज्यादा ध्यान रखते थे वह कहते थे राजनीति बाद में करूंगा सबसे पहले मेरे लिए मेरा देश है. क्योंकि मैं अपने देश की वजह से हूँ देश मेरी वजह से नहीं है इसीलिए मैं कोई भी राजनीति देश से बढ़कर नहीं मानता.

ये भी पढ़ें: पं जवाहरलाल नेहरु के अनमोल विचार

हमें भी अटल बिहारी वाजपेयी जी की तरह देश को पहले तवज्जो देनी चाहिए बाद में और काम को देनी चाहिए क्योंकि हम देश से हैं देश हमसे नहीं हैं अगर हमें कहीं पहचान मिलती है तो हम बताते हैं कि हम इंडिया से हैं हम भारत से हैं कोई भी दूसरे देश में जाने के बाद अपने जिले का अपने राज्य का नाम नहीं बताता वह सीधा अपने देश का नाम बताता है, इंडिया.

दोस्तों, ये पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताए यदि आपका कोई सवाल है तो भी कमेंट करें. आगे हम किस टॉपिक पर पोस्ट लिखें यह भी आप कमेंट करके बता सकते हैं इस पोस्ट को WhatsApp पर शेयर करें ताकि आपके फ्रेंड्स को भी अटल बिहारी जी की बातों का फायदा पहुंच सके. धन्यवाद

 

Vipin Lambha

Hello everyone, I am an Entrepreneur with Startup & Digital Media expert by profession and passionate for Blogging.
Loading...

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *